विंग

उर्वरक विभाग की मुख्य गतिविधियों में उर्वरक उद्योग की योजना बनाना, संवर्धन और विकास करना, उत्पादन की योजना बनाना और मानीटरिंग करना, उर्वरक का आयात और वितरण करना तथा स्वदेशी और आयातित उर्वरकों के लिए राजसहायता/रियायत के द्वारा वित्तीय सहायता का प्रबंधन करना शामिल है। विभाग को मोटे तौर पर 5 विंग में बांटा गया है (I) यूरिया के लिए उर्वरक नीति, परियोजना और योजना (II) पीएण्डके उर्वरकों के लिए उर्वरक नीति और परियोजना की योजना बनाना (III) उर्वरक आयात, संचलन, वितरण और सामान्य प्रशासन और सतर्कता (IV) वित्त और लेखा और (V) आर्थिक एवं सांख्यिकी। इन विंगों का काम एक अपर सचिव एवं वित्तीय सलाहकार, तीन संयुक्त सचिव और एक आर्थिक सलाहकार द्वारा देखा जाता है। आर्थिक सलाहकार की सहायतार्थ निदेशक ईएण्‍डएस हैं।